जबलपुर

संगठनों की गुहार महाकोशल के विकास के लिए मंत्रीमंडल में मिले जगह

जबलपुर। महाकोशल अंचल की प्रदेश सरकार के मंत्री मंडल में हुई उपेक्षा से शहर के सामाजिक, धार्मिक और कर्मचारी संगठन बेहद खफा है। उनके अनुसार विकास के लिए जरूरी है कि मंत्री मंडल में जगह मिले। तभी शहर की बात सरकार तक मजबूती से पहुंच सकती है। इस मामले में लगातार मुख्यमंत्री को संगठनों की ओर से चिट्टी लिखी जा रही है। अलग-अलग संगठन अपनी बात मुख्यमंत्री तक पहुंचाने के लिए विभिन्न् माध्यम का सहारा ले रहे हैं।

महाकोशल को मले सम्मान: मप्र आईटीआई तकनीकी कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष प्रशांत सोंधिया ने कहा कि महाकोशल अंचल का राजनीतिक एवं भौगोलिक रूप से काफी महात्व है। यहां कर्मचारियों की संख्या बड़ी है। जबलपुर संभाग में ही लगभग 30 आईटीआई संचालित है। ऐसे में क्षेत्र की जनता की आवाज के लिए जरूरी है कि मंत्री मंडल में यहा से प्रतिनिधित्व दिया जाए। संघ के नरेश शुक्ला, स्वदेश जैन, ललित डेहरिया, अंजनी द्विवेदी, रघुवीर बरकडे, क्रिष्टोफर नाथ, ममता वर्मा, योगेश देशमुख आदि ने महाकोशल को सम्मान देने की मांग की है।

कर्मचारियों में नाराजगी: मप्र चिकित्सा शिक्षा कर्मचारी संघ के संयोजक वीरेंद्र तिवारी ने स्थानीय विधायक में किसी को मंत्री मंडल में स्थान नहीं मिलने पर नाराजगी जाहिर की है। उनके अनुसार कर्मचारियों की समस्याओं को शासन स्तर पर पहुंचाने के लिए जरूरी है कि यहां से प्रतिनिधित्व दिया जाए। संघ के अमित विश्वकर्मा, घनश्याम पटेल, रमेश उपाध्याय, राजू मस्के, सुनीला ईशादीन, प्रशांत श्रीवास्तव, अरूण चतुर्वेदी आदि ने मंत्री मंडल में जगह देने की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close