कारोबार

Bhopal News: सब्जियों ने दी राहत तो अब गैस सिलिंडर और तेल ने दिखाए तेवर

भोपाल। पिछले सात महीने से आसमान पर पहुंच चुके आलू-प्याज समेत हरी सब्जियों के भावों ने राहत दी तो अब घरेलू गैस सिलिंडर (रसोई गैस) एवं तेल की बढ़ी कीमतों ने किचन का बजट फिर गड़बड़ा दिया है। इस महीने गैस सिलिंडर 100 रुपये तक महंगा हो चुका है। यह महंगाई ऐसे समय हो रही है जब ठंड के चलते घरों में गैस की खपत बढ़ गई है। दूसरी ओर सोयाबीन तेल के भाव भी तीन से चार रुपये प्रति किलो तक बढ़ चुके हैं। हालांकि, त्योहारी सीजन एवं शादी-ब्याह का दौर समाप्त होने से उठाव कम है। बावजूद तेल की धार महंगी है। इसकी वजह सोयाबीन का उत्पादन सामने आ रहा है, क्योंकि इस साल प्रदेश में सोयाबीन का उत्पादन काफी गिरा है। ऐसे में आगे भी तेल के भाव में वृद्धि संभावित है।

गैस सिलिंडर : 17 दिन में 100 रुपये बढ़े

राजधानी में पिछले 17 दिन में घरेलू गैस सिलिंडर पर 100 रुपये तक बढ़ चुके हैं। ऐसे में प्रति सिलिंडर खरीदने पर लोगों को अतिरिक्त राशि चुकाना पड़ रही है। यह 14.2 किलोग्राम वाला गैस सिलिंडर है। जाहिर है कि इससे किचन का बजट भी गड़बड़ाएगा। इसी तरह 19 किलोग्राम वाले सिलिंडर की कीमत भी 90 रुपये तक बढ़े हैं। वर्तमान में ठंड होने के कारण गैस की खपत बढ़ गई है। इसके साथ कीमतों में भी लगातार इजाफा हो रहा है।

तेल : सोया तेल में बढ़ोतरी

राजधानी के थोक किराना बाजार से प्रतिदिन औसत 200 टन तक सोयाबीन, मूंगफली एवं सरसों तेल की सप्लाई शहर व आसपास के जिलों में होती है। इनमें 70 फीसद से अधिक सोयाबीन तेल की सप्‍लाई है। तेल कारोबारी विवेक साहू ने बताया कि दीपावली के दौरान भी तेलों के भाव बढ़े हुए थे। इसके बाद भाव स्थिर हो गए थे, लेकिन दिसंबर में फिर से तेजी आई है। इससे फुटकर में यह 115 से 120 रुपये किलो तक बिकने लगा है। 15 किलो के जार की कीमत 1800 रुपये तक है।

सब्जियां दे रही राहत

घरेलू गैस सिलिंडर और तेल के भाव जहां तेवर दिखा रहे तो सब्जियां राहत दे रही है। फुटकर बाजार में कई सब्जियों के भाव तो 20 रुपये किलो तक पहुंच चुके हैं, जबकि थोक में भाव और भी कम है। इसके अलावा आलू एवं प्याज की आवक बढ़ने से थोक भाव में भी गिरावट आई है। आलू 10 से 15 रुपये तो प्याज 12 से 20 रुपये प्रति किलो तक बेचा जा रहा है। फुटकर में आलू 25 से 35 और प्याज 20 से 30 रुपये किलो तक है। बता दें कि पिछले छह-सात महीने से सब्जियां तेवर दिखा रही थीं। पिछले महीने तक भाव 60 रुपये किलो से अधिक ही चल रहे थे, लेकिन दिसंबर में आवक बढ़ने के साथ ही भाव भी कम हो गए। वर्तमान में करोंद मंडी में सब्जियों की आवक साढ़े आठ हजार क्विंटल तक पहुंच चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close