क्राइममध्यप्रदेश

पैडलर बनकर 10 दिन तस्करों से मिली एसआइ, सिपाही को ग्राहक बनाकर पकड़ा

Operation Ria Indore इंदौर। मिथाइलीनडाइऑक्सी मेथेमफेटामाइन (एमडीएमए) की तस्करी में गिरफ्तार सोहन उर्फ जोजो, धीरज, कपिल पाटनी, विक्की परियानी और सद्दाम मुंबई और राजस्थान के तस्करों से जुड़े हैं। ये बगैर परिचय और संदर्भ के एमडी नहीं देते हैं। गिरोह तक पहुंचने के लिए विजय नगर थाना की एसआइ प्रियंका शर्मा पैडलर अंजलि बनकर मिलती रहीं। करीब 10 दिन बाद सिपाही भरत बड़े को खरीदार सैम बताकर मिलवाया और सभी को गिरफ्तार कर लिया।

टीआइ तहजीब काजी के मुताबिक, गिरोह का सरगना सागर जैन उर्फ सैंडो निवासी गुलाब बाग कॉलोनी है। दिल्ली से बरामद उसके मोबाइल में पुलिस को पैडलर की जानकारी मिली थी। सागर ने बताया कि गिरफ्तारी के कारण पैडलर अलर्ट हो चुके हैं। बगैर जान-पहचान के ‘माल’ नहीं देते हैं। एसआइ प्रियंका शर्मा ने पैडलर बनकर आजाद नगर क्षेत्र में सक्रिय पैडलर से मिलना शुरू किया। एक युवक ने सद्दाम से मुलाकात करवाई। एसआइ ने अंजलि के नाम से परिचय दिया और एमडीएमए खरीदने की इच्छा जाहिर की। सद्दाम परखने के बहाने इधर-उधर बुलाता रहा।

एसआइ ने सिपाही भरत बड़े को खरीदार बताकर मिलवाया और कहा उसका नाम सैम है। वह पब-बार, कैफे और फार्म हाउस में सप्लाई करता है। सद्दाम एसआइ के सामने ही ‘माल’ की उपलब्धता के लिए कॉल करने लगा। दूसरी टीम ने उसकी कॉल डिटेल निकालकर अन्य तस्करों को चिन्हित कर लिया। करीब 10 दिन की मशक्कत के बाद आरोपित एमडीएमए बेचने को तैयार हुए और टीम ने पकड़ लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close